Home मनोरंजन बॉलीवुड नृत्य का शुद्ध स्वरूप खत्म नहीं होगा : हेमा मालिनी

नृत्य का शुद्ध स्वरूप खत्म नहीं होगा : हेमा मालिनी

0 second read
0
0
494

कोलकाता। प्रख्यात फिल्म अदाकारा और नृत्यांगना हेमा मालिनी का मानना है कि कला के हर स्वरूप का अपना सौंदर्य है और कलाओं के दो रूपों को आपस में मिलाने में कुछ भी गलत नहीं है। हेमा यहां भारत और जॉर्जिया के कलाकारों द्वारा एक साथ सिनर्जी नामक कार्यक्रम के आयोजन की की घोषणा के लिए आई थीं। यह कार्यक्रम 15 सितंबर को होगा।

एक सवाल के जवाब में हेमा मालिनी ने कहा कि कला के हर रूप का अपना सौंदर्य है, लेकिन इसे दूसरे स्वरूपों के साथ अलग तरीके से मिलाए जाने में कुछ गलत नहीं है। नृत्य का शुद्ध स्वरूप खत्म नहीं होने जा रहा। इसमें तब तक कुछ भी गलत नहीं जब तक इसे अलग से बरकरार रखा जाता है।

उन्होंने कहा कि हम अब भी नृत्य के शास्त्रीय रूपों को सीखने के लिए लोगों में काफी उत्साह देखते हैं। सिनर्जी के बारे में पूछे जाने पर हेमा मालिनी ने कहा, मेरे से जुड़ी किसी भी सांस्कृतिक पेशकश में कोलकाता की प्रतिक्रिया सबसे महत्वपूर्ण रहती है। उन्होंने कहा, अगर मैं यहां पास होती हूं तो मैं सब जगह पास हो जाऊंगी। सांस्कृतिक रूप से कोलकाता प्रसिद्ध है और हम जानते हैं कि कलाकारों के इस शहर में संस्कृति को कितना महत्व दिया जाता है।

‘संगीतकार विजेता हैं, पराजित नहीं हैं’ इस बयान से फिल्म इंडस्ट्री में मच गई हलचल

Load More Related Articles
Load More By news_admin
Load More In बॉलीवुड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

वाहन चलाते समय इन बातों का ध्यान नहीं तो हर हाल में कटेगा चालान

लखनऊ। नवंबर माह को यातायात माह के रूप में मनाया जाता है। जिससे ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारा …