Home तीर-ए-नज़र सुलग रही है हमारी , सुनोगे क्या ?

सुलग रही है हमारी , सुनोगे क्या ?

10 second read
0
0
589

dev@amarbharti.com

कुछ भुनभुनाए हैं हम , कुछ आस पास के लोग फुसफुसाए भी हैं, और कइयों ने नथुना भी फुलाए हैं लेकिन आप हैं कि राग भैरवी गाये जा रहे हैं। मन मसोस के रह गए हम जब जापान के प्रधानमंत्री शिंजों ने आपके लिए बुलटिये बोल बोले , तब हममें से कइयों ने आपके लिए ‘उलटिये बोल’ बोले, लेकिन आप हैं कि हमारी तरफ देख ही नहीं रहे हैं।

झमाझम गाल बजाये जा रहे हैं, जहाँ जाते हैं, वहीं जलसा,वहीं भाषण, वही पाकिस्तान को लताड़। 

हमसे पूछो कि हम पर क्या बीतती है। पहले नवाज था तो घुप्प-चुप्प था, अब अब्बासी है जो ‘अब्बा सी जम्हाई’ लेता रहता है। पिछले दिनों गया था गैर मुल्क, मगर वहां उसे अपनी मल्कियत की चिंता है।

आपके पीएम हैं तो बात से, हाथ से, लात से, जज्बात से वार पर वार किये जा रहे हैं और हमारे हुक्मरान आतंकियों से गिल्ली डंडा खेल रहे हैं। उस पर हालात ये कि भारत के झंडू बाम की खपत पाकिस्तान में बढ़ गई है। 

लब्बोलुआब यह कि आपके मोदी की हमारे खिलाफ घेरेबंदी से वजीरे आजम हर दस मिनट पर अपने जेब में हाथ डालकर झंडू बाम निकाल लेते हैं और अपने मस्तक पर लेपमलेप किये जाते हैं। 

पिछले दिनों तो अजीब वाकया  हो गया। एक अख़बार ने छाप दिया कि वजीर-ए-आला हर दस मिनट पर अपनी जेब से चन्दन निकलते हैं और लगा लेते हैं। पूरे पाकिस्तान में बवाल मच गया।

आतंकियों ने धमकी दी कि वजीर-ए-आलम को अल्ला के पास भेज दिया जायेगा, एक मौलवी ने उन्हें काफिर घोषित कर दिया और यह फतवा जारी कर दिया कि चूँकि सदर-ए-जनाब चन्दन लगाते हैं इसलिए वे हिन्दू हो गए। इसलिए हम उनके खिलाफ यह फतवा जारी करते हैं  कि उन्हें सजा- ए -मौत देते हैं। 

उधर जनाब को जब पता चला कि उनके खिलाफ पूरे पाकिस्तान में बवाल मचा है और उनकी जान पर बन आयी है तो आनन-फानन में प्रेस सम्मलेन बुलाकर हजारों पत्रकारों के सामने झंडूबाम की डिबिया जेब से निकाली और कहा कि ये चन्दन नहीं है ,ये झंडुबाम है। 

पत्रकारों ने कहा कि आप झंडू बाम क्यों लगाते हैं तो वजीर-ए-आलम ने कहा कि दरअसल भारत की मोदी सरकार के चलते मेरा दिमाग झंड हो गया है, इसलिए हम अपनी जेब से निकालकर झंडू बाम लगा लेते हैं, यह चन्दन नहीं है और न ही हम हिन्दू हैं। 

एक पाकिस्तानी पत्रकार ने कहा कि आप भारत के झंडू बाम का इस्तेमाल क्यों कर रहे हैं, पाकिस्तान का क्यों नहीं ?

इस पर जनाब भन्ना उठे – लफ्फाजी काहें झाड़ रहे हो, हम आतंकी बना रहे हैं और वे झंडू बाम ताकि जब हम झंड हों तो लगा सकें। 

मोदी पर निशाना साधते हुए उन्होंने यहाँ तक कहा कि ‘अब  भारत के खिलाफ हम जल्द ही मोर्चा खोलेंगे और इस सम्बन्ध में एक बैठक बुलाई गई है जिसमें पाकिस्तान की आर्मी चीफ के साथ-साथ अर्शी खान , बीना खान जैसी सख्सियत शामिल होंगी।’ 

मगर हम पाकिस्तानी जानते हैं कि ये लीलोखर कुछ नहीं करेगा।  इसीलिए हमारी सुलग रही है।

Load More Related Articles
Load More By news_admin
Load More In तीर-ए-नज़र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

वाहन चलाते समय इन बातों का ध्यान नहीं तो हर हाल में कटेगा चालान

लखनऊ। नवंबर माह को यातायात माह के रूप में मनाया जाता है। जिससे ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारा …