Home राज्य उत्तर प्रदेश-उत्तराखण्ड नेपाल में लगे चीन के स्लॉटर हाऊस में काटे जा रहे हैं भारत के जानवर !

नेपाल में लगे चीन के स्लॉटर हाऊस में काटे जा रहे हैं भारत के जानवर !

2 second read
0
0
74

राजीव शर्मा/ अजय शर्मा, बहराइच। इंडो-नेपाल बॉर्डर से सटे इलाकों में चीन की तरफ से खोले गए स्लॉटर हाऊस भारतीय क्षेत्र के तमाम प्रतिबंधित जानवरों के कत्ल करने वाले कारखाने का साधन बने हुए हैं। इन इलाकों में स्थापित दिन-रात चल रहे कत्लखानों की फैक्ट्री में जिन्दा जानवरों की बेरहमी से कत्ल कर खाड़ी देशों तक कारगो के जरिये सप्लाई करने का एक बड़ा सिंडिकेट चलाया जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक बॉर्डर एरिया से सटे नेपाल के बर्दिया जनपद के गुलरियां इलाक़े में चीन द्वारा खोले गए पशु वधशाला आस-पास के लोगों के लिये एक बड़ी परेशानी के तौर पर उभर कर सामने आ रही है। इस पशु वधशाला में गाय, भैंस के अलावा भी तमाम तरह की प्रतिबंधित जानवरों की स्लाटिंग कर उनके मांस को खाड़ी देशों तक बेधकड़क पहुचाया जा रहा है। नेपाल के वादियों में चल रही वधशाला से विश्व के कई देशों में मांस की खेपों की सप्लाई लगातार की जा रही है।

चीन, जापान, मलेशिया, इंडोनेशिया सहित दर्जनों देशों के लिये यहां से मांस की सीधी डिलवरी की जा रही है। यही नहीं भारतीय इलाकों में छुपे नेपाली पशु तस्कर भारतीय पशु तस्करों से सौदा कर सीमावर्ती क्षेत्रों के पशु बाजारों में विदेशी धन की रेक झोंक कर महँगे दामों पर पशुओं की खरीदारी कर बॉर्डर और जंगलों से लगे पगडंडियों वाले खुफिया रास्तों से तस्करी कर पशुओं की बड़ी ख़ेप नेपाल पहुँचा रहे हैं। नेपाल पहुचने के बाद वही जानवरों की बड़ी ख़ेप चीन द्वारा खुलवाई गई वधशाला में झोंक दी जा रही है। जहां से पशुओं को काट कर पशुओं के मांस को विदेशों में सप्लाई के लिये पैक कर दिये जा रहे हैं।

नेपाली इलाक़े में लगी इस चीनी स्लॉटर हाऊस से लोग भी हैरान है। इस कम्पनी का नाम चाईना लांग फूड प्राइवेट लिमिटेड ब्रान्च गुलरिहा जिला वर्दियां है। इस वधशाला से मांस नेपालगंज से होकर रुपईडीहा होते हुये कस्टम पार कर भारतीय मार्ग से होता हुआ विभिन्न देशों में बेधड़क सप्लाई किया जा रहा है। भारतीय सीमावर्ती कई थाना क्षेत्रों के रुपईडीहा, मोतीपुर, मुर्तिहा, नवाबगंज, सुजौली के पगडंडियों के रास्ते नेपाली पशु तस्करों के लिये वरदान साबित हो रहे हैं। सीमावर्ती क्षेत्रों में लगी कई सुरक्षा एजेंसियों और ख़ुफ़िया तंत्र के जाल के बावजूद भी पशुओं की तस्करी निर्वाध हो रही है।

वहीं भारतीय सीमावर्ती थाना रुपईडीहा के थानाध्यक्ष आलोक राव का कहना है बॉर्डर पर निरन्तर सजगता से जांच की जा रही है। वर्दियां इलाका हमारे थाने से 150 किमी दूर है और मुर्तिहा और मोतीपुर के बॉर्डर से लगा है। बहराइच पुलिस अधीक्षक जुगुल किशोर ने नेपाल के बर्दिया में चीन की तरफ़ से खोली गई पशु वधशाला के सवाल पर कहा कि बॉर्डर पर मेरी टीम अलर्ट है। किसी भी प्रकार के देश-विरोधी कृत्यों पर हम संजीदा हैं। किसी को भी बख्शा नहीं जायेगा।

इस गांव को छोरा बिखेरेगा भोजपुरी फिल्मों में अपना जलवा

Load More Related Articles
Load More By news_admin
Load More In उत्तर प्रदेश-उत्तराखण्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

वाहन चलाते समय इन बातों का ध्यान नहीं तो हर हाल में कटेगा चालान

लखनऊ। नवंबर माह को यातायात माह के रूप में मनाया जाता है। जिससे ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारा …