Home राज्य उत्तर प्रदेश-उत्तराखण्ड प्रमुख ऊर्जा सचिव का फरमान सुनकर गलती करने वाले मीटर रीडर की अब होगी नींद हराम

प्रमुख ऊर्जा सचिव का फरमान सुनकर गलती करने वाले मीटर रीडर की अब होगी नींद हराम

1 second read
0
0
56

लखनऊ। विद्युत उपभोक्ता को सही रीडिंग का बिल मिले। जो मीटर रीडिर गलत नियत से जानबूझ कर उपभोक्ता को गलत बिल देते है, उनको जेल भेजा जाये। हल्की कार्यवाही से यह नहीं रूकेगा। यह निर्देश बुद्धवार को प्रमुख सचिव ऊर्जा एवं उप्र पावर कारपोरेशन के अध्यक्ष आलोक कुमार ने वीडिये कांफ्रेन्सिग के माध्यम से विद्युत विभाग के अधिकारियों को दिये।

   प्रमुख सचिव लखनऊ के अमीनाबाद, डालीगंज एवं गोमतीनगर विस्तार में गलत मीटर रीडिंग के प्रकरणों को लेकर सख्त नाराज थे। उन्होंने अधिकारियों को इस बात के लिये फटकार भी लगायी कि दोषी मीटर रीडर या एजेन्सी के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाई नहीं की गयी और एफआईआर नहीं करायी गयी। उन्होंने मुख्य अभियन्ता लेसा को दोषी मीटर रीडर के विरूद्ध एफआईआर कराकर आज ही सूचित करने के निर्देश दिये। अध्यक्ष ने कहा कि गलत बिल जारी करने की बड़ी शिकायतें आ रही हैं। मुख्यमंत्री से लेकर ऊर्जा मंत्री एवं मुख्य सचिव तक यह बात कह चुके हैं। इसलिये इस पर हर डिस्कॉम के प्रबन्ध निदेशक स्वयं ध्यान दें। डिस्काम में गलत बिल देने वाली एजेन्सियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाये और जहां गलत नियत से जानबूझकर गलत बिल देने की घटना प्रमाणित हो जाये वहां दोषियों के विरूद्ध एफआईआर कर जेल भेजा जाये।

    शक्ति भवन में सम्पन्न वीडियो कांफ्रेन्सिग में प्रमुख सचिव ने प्रबन्ध निदेशकों को निर्देश दिया कि गलत बिल के सम्बन्ध में उपभोक्ता द्वारा 1912 पर आयी शिकायतों का तत्काल निस्तारण किया जाये। उपभोक्ताओं के बीच डिस्काम स्तर पर यह प्रचारित भी किया जाये कि 1912 पर बिल सम्बन्धी समस्याओं को उपभोक्ता भेज सकता है और उस पर तत्काल कार्यवाही होगी। प्रमुख सचिव ऊर्जा ने टोल फ्री नम्बर 1912 के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए डिस्काम के प्रबन्ध निदेशकों को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रिक मीडिया, वाल राइडिंग, बैनर, पोस्टर तथा सभी माध्यमों का उपयोग 1912 के प्रचार-प्रसार के लिये तत्काल शुरू किये जाये।

 लाइन हानियां कम नहीं हुयी तो कड़ी कार्यवाही होगी

प्रमुख सचिव ने दक्षिणांचल एवं पूर्वाचल में एटी एण्ड सी लाइन हानियों में बढ़ोत्तरी पर सख्त नाराजगी व्यक्त की। वीडियो कांफ्रेन्सिग में उन्होंने दक्षिणांचल एवं पूर्वाचल के प्रबन्ध निदेशकों को निर्देश देते हुये कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण एवं शोचनीय है कि आपके डिस्काम की द्वितीय तिमाही में लाइन हानियां बढ़ गयी है। उन्होंने अलीगढ़ एवं आगरा में मुख्य अभियन्ताओं को लाइन हानियां बढ़ जाने पर जमकर फटकार लगायी। उन्होंने चेतावनी भी दी की आगामी तिमाही में यदि लाइन हानियां कम नहीं हुयी तो कड़ी कार्यवाही होगी।

पुराना बकाया वसूली विधिक तरीके से की जाये

प्रमुख सचिव ने विद्युत विच्छेदन में बड़े बकायेदारों को छोड़ने और छोटे बकायेदारों के कनेक्शन काट देने पर भी सख्त नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि पहले बड़े और पुराने बकायेदारों के कनेक्शन काटिये फिर छोटे बकायेदारों का। पक्षपात की शिकायतें मिली तो कार्यवाही होगी। प्रमुख सचिव ने स्ट्रीट लाइट की मीटरिंग को तेज करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि हमें प्रदेश की हर स्ट्रीट लाइट की मीटरिंग सुनिश्चित करनी है। इसलिए इसके लिये अलग लाइनें डालने की कार्यवाही में भी तेजी लायी जायें। उन्होंने राज्य सम्पत्ति विभाग के आवासों में प्रीपेड मीटर लगाने में भी तेजी लाने के निर्देश दिये। प्रमुख सचिव ने कहा कि जिन आवासों पर पुराना बकाया है वहां भी प्रीपेड मीटर लगा दिये जाये और पुराना बकाया वसूली विधिक तरीके से की जाये।

Load More Related Articles
Load More By Amar Bharti
Load More In उत्तर प्रदेश-उत्तराखण्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

देवरिया पुलिस की दबंगई, मामूली कहासुनी पर पत्रकार कैम्पस में घुसकर पत्रकार की धुनाई

सुनील शर्मा, देवरिया। उत्तर प्रदेश सरकार में पुलिस की दबंगई जारी है। यूपी में नगर निकाय चु…