Home जीवन शैली उत्तरायणी कौथिग में दिखेगी उत्तराखंड की लोक संस्कृति की झलक

उत्तरायणी कौथिग में दिखेगी उत्तराखंड की लोक संस्कृति की झलक

2 second read
0
1
62

लखनऊ। पर्वतीय महापरिषद हर साल की तरह इस बार भी उत्तराखंड का पौराणिक धार्मिक पर्व उत्तरायणी कौथिग 2018 का आयोजन कर रहा है। कौथिग उत्तरायणी कौथिग-2018 का आयोजन भारत रत्न पण्डित गोविन्द बल्लभ पंत पर्वतीय सांस्कृतिक उपवन, निकट-खाटू श्याम मन्दिर, गोमती तट, लखनऊ में दिनांक- 14 जनवरी से 22 जनवरी 2018 तक होगा। मेले का विशेष आकर्षण कौथिग स्थल की थीम है। इस बार मेले में उत्तराखंड के हर जिले की बाजार लगेगी, जिसमें अल्मोड़ा की लाला बाजार, पौड़ी बाजार आदि। मंच और पंडाल को पर्यावरण और स्वच्छता अभियान थीम पर विशेष रुप से तैयार किया गया है।

गोमती तट पर स्थित उपवन पर आयोजित नौ दिवसीय मेले में उत्तराखंड की पारंपरिक लोक कला, नृत्य और संगीत की कई लोक विधाओं का संगम होगा। जिसमें कौथिग में उत्तराखण्ड का छोलिया, घसियारी, थड़िया, चैफुला नृत्य, एवं उत्तर प्रदेश, बुन्देल खण्ड के राईसेरा नृत्य, राजस्थान के कालबेलिया, झूमर आदि नृत्य, आसाम के नृत्य सहित भारत के विभिन्न प्रदेशों के उच्चकोटि के सांस्कृतिक दल एवं एकल कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। मेले में क्षेत्रीय कलाकार एवं सांस्कृतिक दल भी भाग लेंगे। वहीं मेले में जादू कठपुतली, कवि सम्मेलन, मुशायरा, कव्वाली आदि के आयोजन होंगे। इस बार कौथिग में दर्शक नाव से गोमती नदी की सैर कर सकेंगे। निशुल्क स्वास्थ शिविर, पर्वत संदेश पत्रिका का विमोचन होगा।

मेले में सम्मानित होंगी विभूतियां

महापरिषद के अध्यक्ष भवान सिंह रावत ने बताया कि इस वर्ष का पर्वत गौरव सम्मान उत्तराखंड की जागर गायिका पद्मश्री बसंती बिष्ट को दिया जायेगा। इसके अतिरिक्त कौथिग में विभूतियों को वीर चंद्र सिंह गढ़वाली विशेष सम्मान से नवाजा जायेगा। वहीं जीएस नयाल समाज सेवा सम्मान, डॉ एमसी पंत चिकित्सा सेवा सम्मान, दीवान सिंह डोलिया लोक कला सम्मान, रणवीर सिंह बिष्ट कला सम्मान, श्यामाचरण काला पत्रकारिता सम्मान से सम्मानित किया जायेगा। कौथिग में केन्द्रीय गृहमन्त्री राजनाथ सिंह, संस्कृति मन्त्री महेश शर्मा, उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्री, उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री सहित अनेक माननीय मंत्रिगण, सांसद एवं विधायकगणों के आने की संस्तुति प्राप्त हो गई है।

14 को होगी शोभायात्रा

महापरिषद के महासचिव गणेश चन्द्र जोशी ने बताया कि 14 जनवरी को उत्तरायणी पर्व के मौके पर पर्वतीय समाज के लोग शोभायात्रा निकालेंगे। सुबह 11 बजे लखनऊ नगर के विभिन्न क्षेत्रों से सांस्कृतिक दल और पर्वतीय समाज के लोग पहाड़ की पारंपरिक वेशभूषा में शोभायात्रा में शामिल होंगे। रामलीला मैदान महानगर में खिचड़ी भोज के बाद भव्य शोभायात्रा में पारंपरिक लोक नृत्य, वादन के साथ शोभायात्रा कौथिग स्थल पं गोविंद बल्लभ पंत पर्वतीय सांस्कृतिक उपवन के लिए रवाना होगी। शोभा यात्रा में पद्मश्री बसंती बिष्ट, महंत देव्यागिरि सहित कई आचार्यगण शामिल होंगे।

लगेंगे विभिन्न स्टॉल

मुख्य संयोजक दिलीप सिंह बाफिला ने बताया कि उत्तरायणी कौथिग में लगभग दौ सौ स्टॉल लगेंगे। जिसमें उत्तराखंड की जड़ी बूटियां, दालें, नीबू, अचार, दाड़िम, हिमालयी क्षेत्र के विशेष मसाले, ऊनी और गर्म कपड़ों, बर्तन आदि की दुकानें लगेगी। वहीं उत्तराखंड और राजस्थान के पारंपरिक व्यंजनों में अल्मोड़ा की मशहूर बाल मिठाई, सिंगौड़ी आदि की दुकानें भी लगेगी। इसके अलावा हथकरघा विभाग, वस्त्र मंत्रालय भारत सरकार की दुकानें भी लगेगी जिसमें सम्पूर्ण भारत के विभिन्न राज्यों की कला एवं हस्तशिल्प के दर्शन होंगे।

लगेगा निशुल्क स्वास्थ शिविर

संयोजक टी० एस० मनराल ने बताया कि कौथिग में चिकित्सा प्रकोष्ठ के डॉ भीम सिंह नेगी के नेतृत्व में निशुल्क स्वास्थ कैंप् लगेगा। जिसमें महिला डॉक्टर सहित मरीजों की जांच और दवा का वितरण होगा। इस बार कौथिग में कूपन वितरित किए गए हैं जिसमें अन्तिम दिवस पर ड्रा द्वारा पुरस्कार दिया जाएगा।  उपाध्यक्ष के० ऐन० चंदोला ने बताया इसके अलावा कौथिग में स्वच्छता अभियान के साथ गरीबों,  जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए पर्वतीय महापरिषद अपने चिल्लरकोष के डिब्बों का वितरण करेगा।

महापरिषद के उपाध्यक्ष मोहन सिंह मोना ने बताया कि आज स्वामी विवेकानन्द का जन्मदिन युवा दिवस के रूप मनाया गया। इस अवसर पर उनके चित्र का माल्यार्पण किया गया तथा उनके आदर्शों पर चलने का आह्वान किया गया।   जितेन्द्र उपाध्याय, ,गोविन्द बोरा,  दीपक, हेम पन्त, के0एस0 मेहरा, प्रेम सिंह फर्सवाण, हरीश काण्डपाल आदि कई कार्यकर्त्ता मौजूद रहेंगे।

Load More Related Articles
Load More By news_admin
Load More In जीवन शैली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

देश में बोली जाने वाली भाषाओँ को जोड़ने का प्रयास करें – सीएम

लखनऊ। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि देश की संस्कृति, परंपरा और …