Home राज्य उत्तर प्रदेश-उत्तराखण्ड लोकसभा उपचुनाव संपन्न, जनता ने नहीं दिखाई रूचि

लोकसभा उपचुनाव संपन्न, जनता ने नहीं दिखाई रूचि

2 min read
0
0
163

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव के लिए रविवार को शाम पांच बजे मतदान समाप्त हो गया। मतदान प्रक्रिया के दौरान कहीं से किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है। कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के बीच सुबह सात बजे से मतदान शुरू हुआ जो शाम पांच बजे तक चला। हालांकि, शाम पांच बजे तक जो लोग मतदान केंद्रों पर कताारों में खड़े हैं, उन्हें भी मतदान का अवसर मिला। प्राप्त जानकारी के मुताबिक गोरखुपर में 43 फ़ीसदी तथा फूलपुर में 37. 39 प्रतिशत मतदान हुआ। जो पिछले लोकसभा आम चुनाव की तुलना में काफी कम है।

शुरू के दो घंटे दोनों संसदीय क्षेत्रों में मतदान की गति काफी धीमी रही। सात से नौ बजे के बीच में इलाहाबाद के फूलपुर में केवल 4.8 फीसदी मतदान हुआ। शहर के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र के मतदान केंद्रों पर सन्नाटा पसरा था। शहर उत्तरी में केवल 1.8 फीसदी मतदान हुआ। वहीं गोरखपुर में सुबह के पहले दो घंटे में मात्र 6.80 प्रतिशत मतदान हो सका। दोपहर में एक बजे तक मतदान ने रफ्तार पकड़ी और दिन में तीन बजे तक गोरखपुर में 37.00 फीसदी तथा फूलपुर में 26.60 प्रतिशत मतदान हो गया। इस तरह तीन बजे तक कुल 31.75 प्रतिशत वोट पड़ गए थे। सभी जगह कड़ी सुरक्षा में शांति पूर्वक मतदान हुआ।

मतदान प्रारम्भ होते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उपचुनाव के लिए गोरखपुर स्थित कन्या पाठशाला में सबसे पहले मतदान किया। वहीं, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने फूलपुर संसदीय क्षेत्र के ज्वाला देवी इंटर कॉलेज के बूथ पर पत्नी राजकुमारी मौर्य के साथ वोट डाला। गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ और केशव मौर्य के इस्तीफे के बाद खाली हुई गोरखपुर और फूलपुर संसदीय सीटों के लिए उपचुनाव हो रहा है।

दोनों संसदीय क्षेत्रों के कई मतदान केंद्रों से ईवीएम में खराबी की सूचना भी मिली। इसके चलते कुछ बूथों पर मतदान प्रक्रिया काफी समय तक बाधित रही। मतदाता सूची में गड़बड़ी होने की जाानकारी कई जगहों से आयी। लोगों का आरोप है कि तमाम दिवंगत लोगों के नाम मतदाता सूची में दर्ज मिले, कुछ जिंदा लोगों के नाम सूची से गायब रहे। ऐसे में तमाम लोग आज वोट डालने से वंचित रहे। दोनों संसदीय क्षेत्रों के 32 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला एवीएम में कैद हो गया। जिसके नतीजे 14 मार्च को आयेंगे।

निर्वाचन आयोग ने गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव के लिए कुल 1808 मतदान केंद्र व 4296 मतदेय स्थल बनाए थे। दोनों संसदीय क्षेत्रों के कुल मतदाताओं की संख्या करीब 39.13 लाख है। गोरखपुर में 970 मतदान केंद्रों के 2141 मतदेय स्थलों पर वोट डाले गये, जबकि फूलपुर संसदीय क्षेत्र में कुल 838 मतदान केन्द्र और 2155 पोलिंग बूथ बनाये गए थे। गोरखपुर सीट के लिए भाजपा के उपेंद्र दत्त शुक्ला, सपा के प्रवीण निषाद और कांग्रेस की डॉ. सुरहिता करीम समेत कुल दस प्रत्याशी मैदान में थे। वहां मतदाताओं की संख्या 19.49 लाख है।

फूलपुर उपचुनाव में कुल 22 प्रत्याशी थे। इनमें भाजपा से कौशलेंद्र सिंह पटेल, सपा से नागेंद्र पटेल और कांग्रेस से मनीष मिश्र हैं, जबकि बाहुबली अतीक अहमद ने अपना पर्चा निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में भरा है। फूलपुर लोकसभा क्षेत्र में मतदाताओं की कुल संख्या19,63,543 है। निर्वाचन आयोग ने शांतिपूर्ण व निष्पक्ष मतदान के लिए दोनों लोकसभा क्षेत्रों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये थे।

Load More Related Articles
Load More By Amar Bharti
Load More In उत्तर प्रदेश-उत्तराखण्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

शेयर बाजारों में गिरावट जारी, पांच दिन में 8.47 लाख करोड़ रुपये डूबे

अमर भारती: शेयर बाजार बड़ी गिरावट के साथ बंद होने से हलचल मच गई है। कारोबार बंद होने तक से…