Home राज्य दिल्ली-एनसीआर NIA के डीआईजी, IPS प्रवीण सिंह का दिल्ली में निधन

NIA के डीआईजी, IPS प्रवीण सिंह का दिल्ली में निधन

2 min read
0
0
59

नई दिल्ली। 1998 बैच के आईपीएस अधिकारी प्रवीण सिंह का रविवार को निधन हो गया। उन्होंने दिल्ली के मैक्स अस्पताल में अंतिम सांस ली। प्रवीण कुमार पिछले कुछ दिनों से गंभीर बिमारी से जूझ रहे थे। प्रवीण कुमार रांची में IG रैंक के अधिकारी थे। फिलहाल वे एनआईए में डीआईजी पद पर तैनात थे। बता दें कि वे मूल रूप से बिहार के समस्तीपुर के ही रहने वाले थे। दिल्ली के मैक्स अस्पताल में रविवार को साढ़े 5 बजे उनका निधन हो गया। आईपीएस प्रवीण सिंह यूपी के पूर्व सीएम और भाजपा सांसद जगदंबिका पाल के दामाद थे।

जानकारी के मुताबिक प्रवीण कुमार सिंह कुछ दिनों पहले विदेश गए थे। जहां उनके भोजन में कोई कीड़ा चला गया था। जिसे खाने के बाद वे बीमार पड़ गए। खाने में मिला कीड़ा उनके मस्तिष्क को प्रभावित कर दिया। इस बीमारी से जूझ रहे प्रवीण सिंह इलाज के लिए अमेरिका तक गए। लेकिन वहां भी उनकी बीमारी में सुधार नहीं हो सका। जिसके बाद वे दिल्ली के साकेत स्थित मैक्स हॉस्पिटल में भर्ती हुए। जहां उनके मस्तिष्क का आकार बढ़ने लगा। लम्बे समय तक इस बीमारी से जूझ रहे प्रवीण सिंह ने दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में ही दम तोड़ दिया।

आईपीएस प्रवीण सिंह मूल रूप से बिहार के रहने वाले हैं। उन्हें झारखंड में नक्सलियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई के लिए भी जाने जाते हैं। साथ ही समय रहते अपराधियों को पकड़ कर निकालने के लिए प्रसिद्ध रहे हैं। रांची में एसएसपी के पद पर काम करते हुए प्रवीण सिंह ने तीन मौकों पर रांची को दंगे की आग में जलने से बचाया था। इन कारणों से उनके विरोधी भी उनकी तारीफ करते थे।

 

एक समय था जब रांची जिला में नक्सली कुंदन पाहन का आतंक था। रांची-टाटा रोड में कई बड़ी घटनाओं को नक्सलियों ने अंजाम दिया था। हालात इतने खराब हो गये थे कि अगर किसी अधिकारी को रांची से जमशेदपुर जाना होता था, तब नामकुम से लेकर चांडिल तक फोर्स की तैनाती करनी पड़ती थी। तब सरकार ने उन्हें रांची का एसएसपी बनाया। जिसके कुछ दिनों बाद उनके नेतृत्व में पुलिस ने कुंदन पाहन और उसके दस्ते को क्षेत्र छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया था।

वहीं इनके निधन की खबर मिलते ही परिजनों में शोक की लहर दौड़ गई। परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। दामाद के निधन से सांसद जगदम्बिका पाल के घर में भी मातम पसरा है। वहीं बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने भी आईपीएस प्रवीण कुमार सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उनके जानने वाले बताते हैं कि वे काफी मिलनसार व्यक्ति थे।

Load More Related Articles
Load More By news_admin
Load More In दिल्ली-एनसीआर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

कांग्रेस भी दलित राजनीति को देगी हवा, 23 को दिल्ली में होगा कार्यक्रम

लखनऊ। देश की सियासत में दलित राजनीति को  हवा देने के लिए कांग्रेस एक बार फिर से दिल्ली के …