Home खेल दिलीप सरदेसाई का आज 78वां जन्मदिन, गूगल ने डूडल बनाकर दी श्रृद्धांजलि

दिलीप सरदेसाई का आज 78वां जन्मदिन, गूगल ने डूडल बनाकर दी श्रृद्धांजलि

2 min read
0
0
32

अमर भारती : भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज बल्‍लेबाज दिलीप सरदेसाई का आज 78वां जन्‍मदिन है। सर्च इंजन गूगल ने बुधवार को एक खास डूडल बनाकर दिलीप सारदेसाई को उनके जन्मदिन पर श्रृद्धांजलि दी। गूगल ने जो खास डूडल बनाया है उसमें सरदेसाई को क्रिकेट की पिच पर बल्लेबाजी करते हुए देखा जा सकता है।सरदेसाई की गिनती दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में होती है। स्पिनर्स के छक्के छुड़ा देने वाले दिलीप सरदेसाई इकलौते स्टार खिलाड़ी हैं जो गोवा से ताल्लुक रखने वाले भारतीय क्रिकेट टीम में सिलेक्ट हुए थे।

दिलीप सरदेसाई का जन्म 8 अगस्त, 1940 को गोवा के मारगांव में हुआ था जब पुर्तगालियों का शासन चल रहा था और वह एकमात्र खिलाड़ी हैं जो गोवा से आए और टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व कर सके। इसके बाद उनका परिवार बॉम्बे में शिफ्ट हो गया था।

सरदेसाई ने क्रिकेट करियर की शुरुआत सन 1959-60 में यूनिवर्सिटीज के बीच होने वाले मैच से की। बॉम्बे यूनिवर्सिटी के लिए रोहिंग्टन बारिया ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन की वजह से सरदेसाई ने अपना पहला फर्स्ट क्लास मैच नवंबर 1960 में खेला, जिसमें उन्‍होंने 194 मिनट तक डटे रहकर पाकिस्‍तान टीम के खिलाफ 87 रन बनाए थे। शानदार पारी खेलने वाले सरदेसाई ने अपना पहला शतक बोर्ड प्रेजीडेंट इलेवन के लिए खेलते हुए पाकिस्तान के खिलाफ जड़ा था। उनके बेटे राजदीप सरदेसाई ने बताया कि उनके पिता ने 17 साल की उम्र तक मैदान पर कभी पैर नहीं रखे थे, लेकिन सिर्फ चार साल बाद ही उन्होंने क्रिकेट वर्ल्ड में अपनी खास पहचान बना ली थी।

अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में उनकी शुरुआज इंग्‍लैंड के खिलाफ 1961 में हुई थी। सरदेसाई स्पिर्नस के खिलाफ एक बेहतरीन बल्लेबाज तो थे ही लेकिन साल 1962 में उन्होंने तेज गेंदबाजी के खिलाफ भी अपनी काबिलियत का नमूना दुनिया को दिखा दिया।

भारत 1971 में वेस्टइंडीज़ के दौरे पर गई थी। इस सीरीज़ में गावस्कर ने सबसे अधिक 774 रन बनाए थे, जिससे इस सीरीज़ को लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर की बल्लेबाज़ी के लिए याद किया जाता है। सरदेसाई ने अपने बल्ले से वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाजों की कमर तोड़कर रख दी थी। दिलीप सरदेसाई ने तीन शतक और एक अर्धशतक जड़ा और इस दौरे पर 642 रन बनाए जिससे वह दूसरे सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ बने और भारत को जीत दिलाई।

दिलीप सारदेसाई ने 2 जुलाई 2007 को मुंबई में अंतिम सांस ली थी।

अगर आप भी पत्रकारिता में दिलचस्पी रखतें हैं तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्ट्टीयूट से

यह भी देखें-

Load More Related Articles
Load More By Amar Bharti
Load More In खेल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Asian Games : पहलवान विनेश ने गोल्ड मेडल जीत कर रचा इतिहास

अमर भारती : 18वें एशियाई खेलों के दूसरे दिन भारत की महिला पहलवान विनेश फोगाट ने 50 किलोग्र…