Home व्यापार बाबा रामदेव बोले BJP को महंगी पड़ सकती है महंगाई की मार…

बाबा रामदेव बोले BJP को महंगी पड़ सकती है महंगाई की मार…

2 min read
0
0
37

अमर भारती : योग गुरु रामदेव बाबा ने आजतक के कार्यक्रम हल्ला बोल में एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि रूपये की लगातार गिरती किमतें ने केवल देश की अर्थव्यवस्था में गिरावट के लिए जिम्मेदार है बल्कि देश की साख में भी गिरावट है। बाबा ने विदेशी कंपनियों पर उंगली उठाते हुए कहा कि विदेशी कंपनी भारत में पैसा कमा कर सारा धन अपने देश ले जाती है। अगर यही हाल रहा तो वो दिन दूर नहीं जब डॉलर की कीमत भारत में 80 रूपये के बराबर हो जाएगी।

बाबा रामदेव ने आजतक के कार्यक्रम हल्ला बोल में कहा कि कोलगेट जैसी कंपनियां यहां कमाकर सारा धन अपने देश ले जाती हैं। कोलगेट ने देश में कौन सी गोशाला, विद्यालय, अस्पताल खोल दिए हैं? आज वो पूछ रहे हैं कि आपके पेस्ट में नमक है? आज उन्हें नमक, नीम और बबूल याद आ रहा है। अपने देश का रुपये अपने देश में होना चाहिए और अब तो रुपये का इतना बुरा हाल हो गया है। केवल रुपया ही नहीं गिरा, देश की साख भी गिरी है।

बाबा रामदेव ने कहा कि अगर देश के पैसा देश में ही रहे तो देश को किसी प्रकार की आर्थिक समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। वहीं बाबा रामदेव ने यह भी कहा कि अगर सरकार चाहे तो पैट्रोल की लगातार बढ़ती कीमतों पर रोक भी लगा सकती है। उन्होंने कहा कि अगर टैक्स कम कर दिया जाए तो तेल के दाम कम हो सकते हैं। पेट्रोल-डीजल के दामों में जो आग लगी हुई है, अगर इसका टैक्स खत्म कर दिया जाए तो आज भी 40 रुपये में डीजल-पेट्रोल मिल सकता है।

वहीं आजतक के कार्यक्रम हल्ला बोल में बाबा रामदेव ने स्पष्ट भाषा में प्रधानमंत्री मोदी की ओर इशारा करते हुए बोला कि 2019 का महासंग्राम नजदीक है और उससे पहले उनको ये महंगाई की आग बुझानी पड़ेगी, नहीं तो यह आग उन्हें बहुत महंगी पड़ सकती है।

अगर आप पत्रकारिता जगत से जुड़ना चाहते हैं तो हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से संपर्क करें

यह भी देखें-

Load More Related Articles
Load More By Amar Bharti
Load More In व्यापार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

शेयर बाजारों में गिरावट जारी, पांच दिन में 8.47 लाख करोड़ रुपये डूबे

अमर भारती: शेयर बाजार बड़ी गिरावट के साथ बंद होने से हलचल मच गई है। कारोबार बंद होने तक से…